स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

Essay on Independence day in Hindi

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध ( Essay on Independence day in Hindi ): 15 अगस्त हमारे देश भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है इस दिन 15 अगस्त 1947 को हमारे देश को अंग्रेजी हुकूमत से आजादी मिली थी। आज इस पोस्ट के माध्यम से हम लेकर आये हैं 15 अगस्त अर्थात स्वतंत्रता दिवस पर निबंध। जिसे पढ़ने के बाद आपको स्वतंत्रता दिवस के बारे में काफी जानकारियाँ प्राप्त होंगी और आप निबंध भी लिखना सीख जायेंगे।

प्रस्तावना

स्वतंत्रता दिवस यानी आजादी का दिन। यह दिन भारत के इतिहास का सबसे महत्त्वपूर्ण और गौरवशाली दिन है। इसी दिन हमारा देश गुलामी की बेड़ियों से आजाद हुआ था। 15 अगस्त का ये दिन भारत के लिए एक स्वर्णिम प्रभात ले कर आया। यह स्वतंत्रता हमें न जाने कितने संघर्षों तथा स्वतंत्रता सैनानियों के बलिदान से प्राप्त हुई है। यह दिन उन वीर शहीदों के त्याग और बलिदान को याद करने का भी है। यह दिन भारत के राष्ट्र पर्व का दिन है, जिसे हम सभी भारतवासी बिना किसी भेद- भाव के एक जुट हो कर मानते हैं।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व

15 अगस्त 1947 को भारत ब्रिटिश शासन से आजाद हुआ था, इसलिए हम स्वतंत्रता दिवस अपनी आजादी के रूप में मनाते हैं। स्वतन्त्रता दिवस हम लोगों को स्वतंत्रता सैनानियों के बलिदान की याद दिलाता है, यह सभी देश वासियों में देश भक्ति की भावना जाग्रत करता है, यह दिन भारत की अखंडता को प्रदर्शित करता तथा यह एहसास दिलाता है की हम देशवासी अपनी बोली, भाषा में रंग, रूप से भिन्न है पर फिर भी हम अपनी देश के लिए एक जुट खड़े रहते हैं, हम 15 अगस्त के रूप में अपने आजादी का दिन मानते हैं, जो न जाने कितने कठिन संघर्षों और बलिदानों से मिली है। इस दिन का महत्व इस लिए भी है क्योंकि इस दिन हमारे वीर स्वतंत्रता सैनानियों और भारत के लोगों ने अपनी आजादी के प्रतीक में हमारे भारत का तिरंगा झंडा फहराया था। यह दिन उन स्वतंत्रता सैनानियों को नमन करने का दिन है।

स्वतंत्रता दिवस और स्वर्णिम इतिहास

भारत में स्वतंत्रता की पहली लड़ाई सन् 1857 में रानी लक्ष्मी बाई द्वारा लड़ी गई परंतु उस समय लोगों में आज़ादी के लिए जागरूकता नही थी, तथा क्रान्तिकारी के कम साधन और न्यूनतम सहयोग के कारण अंग्रेजो के शासन को उस समय हटाया न जा सका। परंतु उसके कई वर्षों बाद भगत सिंह, लाला राज पत राय जैसे कई स्वतंत्रता सैनानियों ने आजादी की लड़ाई लड़ी इसके साथ ही लोगों में आज़ादी के लिए जागरूकता भी आयी , और एसे ही कई संघर्षों के बाद महात्मा गांधी, पण्डित जवाहर लाल नेहरू जैसे देश प्रेमियों के नेतृत्व में हम भारतियों ब्रिटिश शासन से 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली। तथा भारत के पहले प्रधान मंत्री के रूप में पण्डित जवाहर लाल नेहरू ने लाल किले पर हमारे देश का तिरंगा झंडा फहराया।

स्वतंत्रता दिवस तथा आयोजन

स्वंतत्रता दिवस के दिन संपूर्ण भारत में हर्षोल्लास का माहौल होता है। इस दिन सभी स्कूलों, सरकारी दफ्तरों, सामाजिक स्थलों पर ध्वजा रोहण किया जाता है। इस दिन भारत के प्रधान मंत्री दिल्ली में लाल किले पे ध्वजा-रोहण करते हैं। जिसे देखने के लिए लोग लाखों की संख्या में एकत्रित होते हैं। इस समारोह को देखने के लिए केवल देश से ही नहीं अपितु विदेशों से भी लोग आते हैं। तिरंगा फहराने के बाद राष्ट्रगान होता है, और इसके पश्चात हमारे सैनिकों द्वारा बाजों की स्वर लहरी कर 21 तोपों की सलामी दी जाती है।
राज पथ पर तीनों सेनाओं द्वारा परेड किया जाता है, तथा अलग – अलग राज्यों से आई हुईं, तरह-तरह की झाँकियां प्रस्तुत की जाती हैं। जिसका प्रसारण पूरे देश भर में दूरसंचार के माध्यमों से किया जाता है। विद्यालयों में भी इस दिन को बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है, इस दिन विद्यालयों में बच्चे देश भक्ति का गीत गाते हैं स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देते हैं। इस प्रकार से पूरे भारत देश में राष्ट पर्व के रूप में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।

उपसंहार

यह दिन हमें प्रेरणा देता है कि हमें राष्ट्रीय एकता को बनाए रखना चाहिए, तथा देश की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए कृत-संकल्प रहना चाहिए। हमें आपसी बैर तथा वैमनस्य से दूर रहना चाहिए, जिस कारण हम पराधीन हुए थे। इस दिन हमें यह प्रण लेना चाहिए कि जिन शहीदों ने अपना बलिदान देकर हमें आजादी का उपहार दिया, हम उन्हें कभी नहीं भूलेंगे तथा कोई भी ऐसा काम नहीं करेगें, जिससे फिर हमें कभी पराधीनता का मुँह देखना पड़े। जिस स्वतंत्र भारत का सपना महात्मा गांधी, भगत सिंह, राजगुरु जैसे देश प्रेमियों ने देखा था हमे भी अपने भारत को वैसा बनाने का संकल्प करना चाहिए।

आशा करते हैं की आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह स्वतंत्रता दिवस पर निबंध पसंद आया होगा। 😊

यह भी पढ़ें –

विद्यार्थी जीवन पर निबंध

पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध

रक्षाबंधन पर निबंध

गाय पर निबंध

Leave a Reply

Your email address will not be published.